Shri Tejpal Dhama honored with Sanskriti Manishi Samman

Shri Tejpal Dhama honored with Sanskriti Manishi Samman

26 May 2017
Delhi, India
Delhi Hindi Academy

भारतीय संस्कृति, मानवीय मूल्यों, महापुरुषों के जीवन, भारत के गौरवशाली इतिहास और प्राचीन विज्ञान आदि से सम्बंधित आजीवन समग्र लेखन के लिए दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड, संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला प्रतिष्ठित संस्कृति मनीषी सम्मान प्रख्यात इतिहासकार तेजपाल सिंह धामा को प्रदान किया गया।

      इस सम्मान में डेढ लाख रुपए की नगद सम्मान धनराशि, शॉल एवं सम्मान पत्र प्रदान किया गया। इस अवसर पर श्री रविन्द्र चन्द्र गुप्ता को मरणोपरांत महर्षि दधिचि सम्मान प्रदान किया गया। सम्मान उनकी सुपुत्री ने ग्रहण किया। संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि संस्कृति की रक्षा पुस्तकों से ही संभव है। ऋग्वेद से लेकर आज तक जितनी भी पुस्तकें लिखी गई, उन सबके कारण ही हमारी सभ्यता एवं संस्कृति सुरक्षित रही है।’’

    समारोह की अध्यक्षता उदयपुर विवि राजस्थान के कला संकाय के पूर्व अध्यक्ष एवं प्रख्यात शिक्षाविद प्रोरामगोपाल शर्मा ने की। लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रिय संस्कृत विद्यापीठ के कुलपति प्रो. रमेश कुमार पांडे विशिष्ट अतिथि रहे। दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड के चेयरमैन रामकृष्ण गौड ने तेजपाल सिंह धामा एवं तीन अन्य साहित्यकारों के जीवन एवं रचनाओं पर प्रकाश डाला। बहुचर्चित फिल्म पदमावती भी तेजपाल सिंह धामा के शोधग्रंथ अग्नि की लपटें पर आधारित  है।

International Arya Mahasammelan confirm in Mayanmar (Burma)

Hind Ki Chadar Guru Teg Bahadur Book release