Vishal Charitra Nirman and Prashikshan Shivir

vyatitv vikas evm aathramrakshan shivir organized by Arya Veerangana Dal

प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी आर्य वीरांगना दल दिल्ली प्रदेश का वार्षिक शिविर 21 मई से 28 मई तक डीएवी पब्लिक स्कूल श्रेष्ठ विहार में सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ। शिविर का शुभारम्भ माननीय ठाकुर विक्रम सिंह (राष्ट निर्माण पार्टी अध्यक्ष) एवं श्रीमती प्रेमलता गर्ग जी (डीएवी श्रेष्ठ विहार प्रिंसिपल) के कर कमलों द्वारा ध्वजारोहण किया गया। ध्वजारोहण पश्चात् आमंत्रित अतिथि ठा. विक्रम सिंह, श्रीमती प्रेमलता गर्ग, दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रधान श्री धर्मपाल आर्य, विदुषी माता उषा किरण कथूरिया एवं श्री शिव कुमार मदान जी उपप्रधान दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा तथा आये हुए समस्त अतिथियों का दल की अधिकारी बहनों ने सैन्य सम्मान के साथ उनका स्वागत अभिनंदन किया।

  कार्यक्रम का शुभारम्भ वैदिक मंगलाचरण व दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुआ। ठा. विक्रम सिंह अपने उद्बोधन में वीरांगनाओं को उनकी शक्तियों का बोध कराते हुए नजर आये। श्रीमती प्रेमलता गर्ग ने व्यावहारिक मूल्यों पर प्रकाश डाला तथा धर्मपाल आर्य जी ने वीरांगनाओं के उज्ज्वल भविष्य की मंगल कामना की। विदुषी माता उषा किरण कथूरिया ने बच्चों को स्व कर्त्तव्य बोध कराया एवं सफल शिविर के लिये मंगल कामना की। मंच  संचालन आ. अमृता आर्या (मंत्राणी) एवं लिपिका आर्या (बौह्किाध्यक्षा) ने किया। ध्वजावतरण श्री दिनेश आर्य ने किया। अंत में शिविर संचालिका श्रीमती शारदा आर्या ने सभी का धन्यवाद किया। लिपिका आर्या जी ने शान्तिपाठ के साथ उद्घाटन समारोह को विराम दिया।

  दिल्ली प्रदेश के इस वार्षिक शिविर में प्रतिदिन बौधिक सत्र में वीरांगनाओं ने अनेक विद्वानों के माध्यम से भौतिक एवं आध्यात्मिक ज्ञान का आनन्द प्राप्त किया। बौधिक सत्र में विशेष सेवाएं डॉ. देव शर्मा ,श्री विनय आर्य महामंत्री दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा, आयुषि रण जी एवं कौशल जी (डीएवी) ने दिया। इस शिविर में लगभग 160 वीरांगनाओं, प्रधान शिक्षक श्रीमान हरि सिंह गुरु जी तथा सह शिक्षिकाएं चन्दा आर्या, डिम्पल आर्या, आशु शर्मा, नीलम आर्या, मीनाक्षी आर्या, पूनम आर्या, स्वेता आर्या एवं रेशमा आर्या जी के  सान्निध्य में सैन्य शिक्षा, आसन, नियुह्म, व्यायाम रेस्क्यू ऑपरेशन, शूटिंग, लाठी, तलवार एवं छुरी के प्रहारों का अनुपम प्रशिक्षण प्राप्त किया। समय-समय पर अतिथिगण एवं अधिकारी वर्ग ने बच्चों का निरीक्षण एवं उत्साहवर्धन किया। सात दिवसीय शिविर का भव्य समापन समारोह 28 मई को ध्वजारोहण के साथ आरम्भ हुआ। ध्वजारोहण के पश्चात् दीप प्रज्ज्वलन महाशय धर्मपाल जी (एमडीएच) डॉ. प्रेमलता गर्ग, माता कृष्णा ठुकराल, डॉ.  रचना चावला, डॉ. राजीव चावला, एस के शर्मा, विनय आर्य एवं वीरांगना दल की अधिकारी बहनों ने मिलकर किया। तत्पश्चात् आये हुए सभी अतिथियों का स्वागत व सम्मान सैन्य अभिवादन के द्वारा वीरांगना दल दिल्ली प्रदेश की अधिकारी बहनों ने किया। मंच संचालन आचार्या अमृता आर्या एवं लिपिका आर्या के द्वारा हुआ। कार्यक्रम में वीरांगनाओं के सर्वांग सुन्दर व्यायाम, सूर्य नमस्कार, भूमि नमस्कार, नियुह्म, आसन, स्तूप रेस्क्यू ऑपरेशन, शूटिंग, तलवार एवं लाठी का प्रदर्शन विशेष आकर्षण का विषय रहा। श्री एस. के शर्मा जी ने अपने उद्बोधन में  हम बलवान नहीं वीर बनेकहते हुए वीरांगनाओं को काफी उत्साहित किया। महाशय धर्मपाल जी ने हृदय से वीरांगनाओं को आशीर्वाद प्रदान किया। उन्होंने कहा कि दैनिक दिनचर्या घर पर भी पालन करोगे तभी महान बनोगे। सभी वीरांगनाओं ने संकल्प लिया कि अपने राष्ट्र और संस्कृति की रक्षा के लिये तन,मन और धन समर्पित करेंगे। शिविर में आये अतिथियों ने वीरांगनाओं को पुरस्कार प्रदान किये। समारोह के अन्त में शारदा आर्या जी ने सभी का धन्यवाद किया व ध्वजावतरण गुरु हरिसिंह जी ने किया एवं ससम्मान संचालिका महोदया शारदा आर्या जीको ध्वज समर्पित किया। शान्ति पाठ के साथ समापन समारोह सम्पन्न हुआ।

Swadhyay Shivir

36th Vaicharik Kranti Shivir