Parivarik Yajya Prashikshan Shivir

Parivarik Yajya Prashikshan Shivir organize by Delhi Arya Pratinidhi Sabha

23 Jul 2017
India
Delhi Arya Pratinidhi Sabha

दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के तत्वाधान में संचालित घर-घर यज्ञ हर घर यज्ञ योजना के अन्तर्गत विभिन्न क्षेत्रों में श्रृंखलाबद्ध आयोजित पारिवारिक यज्ञ प्रशिक्षण शिविर आर्य समाज सैक्टर-7 रोहिणी में दिनांक 18 से 23 जुलाई 2017 के मध्य आयोजित किया गया। शिविर में लगभग 45-50 व्यक्तियों ने यज्ञ प्रशिक्षण प्राप्त किया इसमें अनेक गैर आर्यसमाजी बन्धुओं ने भी यज्ञ प्रशिक्षण प्राप्त किया। वेद प्रचार मण्डल उत्तर पश्चिमी दिल्ली के श्री सुरेन्द्र आर्य ने कहा कि ‘‘इन शिविरों की सफलता व आर्य बन्धुओं की यज्ञ विज्ञान की जिज्ञासा को  देखते हुए यह शिविर हर आर्य समाज में आयोजित करने की व्यवस्था हेतु सभी अधिकारियों को प्रयास करना चाहिए। जैसाकि आप सबको विदित है कि यज्ञ के इन प्रशिक्षणों में जो शोध हुए हैं उनका विस्तार पूर्वक वर्णन आर्य बन्धुओं को दिया जा रहा है ताकि जो यज्ञ पाप और पुण्य के नाम से किए जा रहे हैं  उस भ्रांति को दूर करते हुए यज्ञ से वर्तमान वायु मण्डल में जो शुद्दता आएगी वह सारे मानव जाति के लिए लाभ दायक है। इसमें कोई पाप नहीं है यदि विधिवत् तरीके से यज्ञ किया जाए जैसे जब अग्नि पूर्ण रूप से प्रज्ज्वलित हो जाए तभी उसमें उचित मात्रा में सामग्री आदि डालनी चाहिए तब तो पुण्य ही पुण्य है लेकिन यदि अग्नि मंद होगी और सामग्री की मात्रा ज्यादा होगी या सामग्री शुद्ध नहीं होगी तो पाप ही पाप है। अपनी वाणी को विराम देते हुए श्री सुरेन्द्र आर्य ने कहा कि दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा ने घर-घर यज्ञ हर घर यज्ञ योजना संचालित करके मानव जाति के लिए बहुत बड़ा पुण्य का कार्य किया है जिससे प्राणिमात्र तो लाभान्वित होंगे ही साथ ही भारत में पर्यावरण प्रदूषण को रोकने में बहुत बड़ा योगदान मिलेगा। यज्ञ से होने वाले लाभों की जानकारी सिर्फ आर्य समाजियों तक ही सीमित न रखते हुए समस्त मानव जाति में इसका प्रचार-प्रसार करना होगा तभी हम ‘स्वच्छ भारत’ का सपना साकार कर सकेंगे। शिविर को सफल बनाने में आर्य समाज सैक्टर-7 रोहिणी के संरक्षक श्री सुरेन्द्र आर्य, मंत्री श्री संजीव गर्ग, श्री सुरेन्द्र चौधरी ने महत्वपूर्ण योगदान दिया। शिविर में वैज्ञानिक जानकारी सविस्तार समझाने में सभा महामंत्री श्री विनय आर्य का विशेष योगदान रहा।

- सतीश चढ्ढा, संयोजक

27th Arya Mahasammelan

Kshetriya Gosthi