Guru Purnima Mahotsav Organised By Guru Virjanand Gurukul

Guru Purnima Mahotsav organised at Guru Virjanand’s birthplace Kartarpur

गुरु विरजानन्द गुरुकुल महाविद्यालय में गुरु पूर्णिमा महोत्सव का आयोजन धूमधाम से किया गया। इसका गुरु विरजानन्द जी की जन्मभूमि करतारपुर में 6 जुलाई को गुरु विरजानंद गुरुकुल फेसबुक और गूगल मीट एप पर सीधा प्रसारण भी किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ वैदिक मंत्रों से यज्ञ के साथ हुआ। इसमें यजमान के रूप में हरिमंगल त्रिपाठी अपनी पत्नी के साथ एवं  राजेश अमरप्रेमी अपनी पत्नी के साथ उपस्थित थे। इसके बाद जालंधर से आए राजेश अमर प्रेमी के भजनों की प्रस्तुति हुई। इसमें ऋषि भक्ति के भजनों के साथ-साथ प्रभु भक्ति भजन हुए। इसके बाद गुरुकुल के ब्रह्मचारी नरेश कुमार ने एक सुंदर गीत की प्रस्तुति की, जिसको सुनकर सभी मंत्रमुग्ध हो गए। इसके बाद दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के मंत्री विनय आर्य जी ने अपने विचार प्रस्तुत किए। इसमें आर्य जी ने सभी को आर्य समाज से जुड़ने का आग्रह एवं संगठन को मज़बूत करने पर विशेष बल दिया। गुरुकुल के प्रधान ध्रुव मित्तल ने विनय आर्य जी का स्वागत भाषण करते हुए कहा कि विनय जी के नेतृत्व में आर्य समाज ने बहुत उन्नति की है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सीकर राजस्थान के सांसद स्वामी सुमेधानंद जी रहे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि गुरु विरजानन्द के पद्चिन्हों पर चलते हुए आर्य समाज को आगे बढ़ाना चाहिए। स्वामी जी ने गुरूकुल के छात्रों को प्रेरित करते हुए कहा कि हर विद्यार्थी को गुरुओं के प्रति सदा कृतज्ञ होना चाहिए क्योंकि कृतघ्न होना बहुत बढ़ा पाप है। स्वामी जी ने आचार्य उदयन की बढ़ाई करते हुए कहा कि उनके आने से गुरूकुल करतारपुर ने बहुत बढ़ी उन्नति की है। कार्यक्रम में मंच संचालन आचार्य उदयन आर्य जी ने करते हुए कहा कि गुरूकुल करतारपुर एकमात्र ऐसा गुरूकुल है जहां कोरोना काल में भी ऑनलाइन माध्यम से निरन्तर पढ़ाई हो रही है। उन्होंने दोनों वक्ताओं का अभिनन्दन करते हुए कहा कि ऐसे नेताओं के नेतृत्व से ही आर्य समाज आगे बढ़ सकता है। अन्त में गुरूकुल के महामंत्री नरेश कुमार धीमान जी ने सबका हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में गुरुकुल के सभी छात्र और अध्यापकों के साथ गुरूकुल अधिष्ठाता सुखदेव राज भी उपस्थित थे।

 

6 Days Online Ved Pravachan Program Completed

Arya Samaj Celebrated International Yoga Day