19th Arya Parivar Yuvak Yuvati Parichay Sammelan

19th Arya Parivar Yuvak Yuvati Parichay Sammelan organize by Delhi Ary Pratinidhi Sabha

04 Feb 2018
India
Delhi Arya Pratinidhi Sabha

नई दिल्ली 4 फरवरी। ‘‘वैदिक संस्कारों से युक्त आर्य परिवारों के निर्माण ही आर्य परिवार युवक-युवती परिचय सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य है। इससे वैदिक विचारधारा और अधिक गति से समाज में बढ़ेगी।’’ उक्त विचार 19वें आर्य परिवार युवक-युवती परिचय सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में बोलते हुए मुख्य अतिथि महाशय धर्मपाल जी चेयरमैन एम. डी.एच. ने व्यक्त किये। महाशय जी ने अपनी दिनचर्या को वक्तव्य करते हुए कहा कि मैं सियालकोट में पैदा हुआ वहीं रहा। वहां मैं रोज सुबह 4 बजे टहलने जाता था तो एक आवाज सुनाई पड़ती थी उठ जाग मुशफिर भोर भई। जो जागत है सो पावत है जो सोवत है सो खोवत है। यानी जो जाग गया वह जीवन में कुछ बन जाएगा। मेरा जीवन सदा यज्ञमय रहा है मेरी जिन्दगी में यदि यज्ञ न हो तो जीवन में कुछ न हो मैं आज भी सुबह सवा 4 बजे उठ जाता हूं पार्क में जाकर भ्रमण करता हूं, योगा करता हूं, डम्बल करता हूं। मेरा कहने का तात्पर्य यह कि अपनी दिनचर्या को ईमानदारी से निभाने से आपकी दिनचर्या ही बदल जाएगी। जैसा बीजोगे वैसा ही काटोगे।’’ उन्होंने विवाह परिचय सम्मेलन को आयोजित करने वाले सभी कार्यकताओं एवं अधिकारियों  को आशीर्वाद देते हुए कहा कि कार्यक्रम के प्रचार के लिए राष्ट्रीय समाचार पत्रों में विज्ञापन प्रकाशित करवाने की आवश्यकता है, इस दिशा में कार्य किया जाना चाहिए। आर्य समाज जनकपुरी बी-2 ब्लाक नई दिल्ली में आयोजित 19वें सम्मेलन में श्री धर्मपाल आर्य प्रधान दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि ‘‘आर्यसमाज के विवाह सम्बन्धी विचार महर्षि दयानन्द के वैदिक चिंतन का साक्षात् स्वरूप है। विवाह में  जन्म पत्री मिलान,  मांगलिक दोष इत्यादि से समाज में अनेकों भ्रांतियां फैली हैं।, इन्हें दूर करना होगा।’ उन्होंने आगे कहा कि ‘आज के इस कार्यक्रम की प्रमुख विशेषता यह है कि प्रथम बार उच्च शिक्षित उच्च आर्य वर्ग के आर्य युवक-युवतियों के लिए यह सम्मेलन विशेष रूप से आयोजित किया गया है जो काफी उत्साह्वर्धंक है।  

इसके आशातीत परिणाम आएंगे ऐसी मुझे पूर्ण आशा है। इस प्रकार के आयोजन जाति-पाति के भेदभाव को मिटाने में आर्य परिवार युवक-युवती परिचय सम्मेलन उल्लेखनीय भूमिका निभा रहे हैं।’ परिचय सम्मेलन के पूर्व इस संवाददाता को अपने विचार प्रकट करते हुए दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा महामंत्री श्री विनय आर्य ने कहा कि महर्षि दयानन्द सरस्वती ने परस्पर समान गुण कर्म और स्वभाव के अनुसार विवाह करने का उल्लेख किया है। आर्य समाज के ये परिचय सम्मेलन तदनुरूप लक्ष्य की पूर्ति में सहायक होंगे।

सम्मेलन का शुभारम्भ ईश्वर स्तुति प्रार्थना, उपासना के मत्रोच्चारण के साथ मंच पर उपस्थित सभी पदाधिकारियों अतिथितियों सर्वश्री महाशय धर्मपाल चेयरमैन एम डी एच, जगदीश चन्द्र गुलाटी मंत्री, कृष्ण कुमार बवेजा मंत्री, यशपाल आर्य कोषाध्यक्ष, धर्मपाल आर्य प्रधान दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा, अर्जुन देव चड्ढा, प्रधान कोटा आर्य प्रतिनिधि सभा, राम चरण आर्य, प्रधान महावीर नगर कोटा, सतीश चढ्ढा महामंत्री एवं एस.पीसिंह मंत्री आर्य केंद्रीय सभा दिल्ली राज्य, शिव कुमार मदान प्रधान आर्य समाज पंखा रोड, जनकपुरी, हर्षप्रिय आर्य जे.वी.एम ग्रुप, सर्वश्रीमती वीणा आर्या, विभा आर्या द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। दीप प्रज्ज्वलन के पश्चात् आर्य समाज जनकपुरी-बी-2 के पूर्व प्रधान श्री वीरेन्द्र कुमार खट्टर एवं राष्ट्रीय संयोजक श्री अर्जुनदेव चड्ढा ने अतिथियों का स्वागत केसरिया पटका व राजस्थानी पगड़ी पहना कर किया। सम्मेलन में राष्ट्रीय संयोजक अर्जुनदेव चड्ढा जी ने बताया कि इस सम्मेलन में भारी संख्या में युवक-युवतियों ने अपना पंजीकरण कराया। पंजीकृत युवक- युवतियों की फोटोयुक्त बायोडाटा विवरणिका पुस्तक का प्रकाशन किया गया जो कार्यक्रम स्थल पर सभी को प्रदान की गई। पूर्व पंजीकृत युवक-युवतियों के साथ-साथ तत्काल पंजीयन की भी व्यवस्था की गई थी जो पूरे कार्यक्रम तक चलती रही। तत्काल पंजीयन में अनेकों युवक-युवतियों ने पंजीयन कराया। दिल्ली क्षेत्र के संयोजक श्री एस.पी. सिंह ने बताया कि कार्यक्रम स्थल पर पूछताछ, तत्काल रजिस्ट्रेशन, विवरणिका, पुस्तक वितरण, युवक-युवती वैज वितरण आदि के अलग-अलग काउण्टर लगाए गए थे, इन सभी काउण्टरों की पूरी जिम्मेदारी कु. हविशा आर्या, मनोज नेगी, अशोक कुमार, अरुण प्रकाश, बिपिन भल्ला एवं श्रीमती विभा ने संभाल रखी थी। सम्मेलन में युवक-युवतियों ने मंच पर आकर पूरे आत्मविश्वास के साथ परिचय दिया। उन्हें  कैसा जीवन साथी चाहिए इस बारे में अपने विचार प्रकट किये। कुछ अभिभावकों ने भी अपने पुत्र-पुत्रियों के बायोडाटा प्रस्तुत किये। रिश्तों की वार्ता को अगे बढ़ाने व सहयोग के लिए एक मेल मिलाप समिति बनाई गई जिसके संयोजक श्री सतीश चड्ढा महामंत्री एवं श्री ओम प्रकाश आर्य उप प्रधान के. आर्य प्रतिनिधि सभा दिल्ली राज्य ने आपसी मेल-मिलाप कराने में अपना भरपूर सहयोग दिया। दिल्ली में बाहर से आने वाले युवक-युवतियों के अभिभावक एक दिन पूर्व ही दिल्ली पहुंच गए थे जिनके ठहरने, चाय-नाश्ते व भोजन की व्यवस्था आर्य समाज जनकपुरी बी-2 ब्लॉक द्वारा की गई। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय संयोजक अर्जुन देव चड्ढा, एस.पी. सिंह, हर्ष प्रिय आर्य, विभा आर्या, वीणा आर्या जी ने किया। आर्य समाज जनकपुरी बी-2 ब्लॉक में विगत 36 वर्षों से सक्रीय भूमिका निभाने वाले पूर्व प्रधान श्री वीरेन्द्र कुमार खट्टर प्रधान, श्री कृष्ण कुमार बबेजा प्रधान, श्री जगदीश चन्द्र गुलाटी मंत्री एवं यशपाल जी कोषाध्यक्ष ने कार्यक्रम पश्चात् सभी का धन्यवाद किया व आर्य समाज बी-2 ब्लॉक जनकपुरी की ओर से सहभोज की व्यवस्था की गई। यदि भूलवश किसी महानुभाव का नाम प्रकाशित होने से रह गया हो तो क्षमाप्रार्थी हैं।

 

- अर्जुन देव चड्ढा,

राष्ट्रीय संयोजक

Yaj Prashikshan Shivir

Paryavaran Shuddhi Yagya