First Arogya Vairagya Saubhagyodya Shivir

12 to 22 June Organized First Arogya Vairagya Saubhagyodya Shivir Completed

23 Jun 2020
Himachal Pradesh, India
Arya Pratinidhi Sabha Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश के आर्य समाज वेद मन्दिर सुंदर नगर कॉलोनी में 12 से 22 जून तक आयोजित प्रथम आरोग्य वैराग्य सौभाग्योदय शिविर का हुआ समापन। इस ऑनलाइन शिविर में देशभर से चुने हुए उच्चकोटि के स्वाध्यायशील साधकों ने भाग लिया। शिविर के संरक्षक और साधक के रूप में आर्य प्रतिनिधि सभा हिमाचल प्रदेश के प्रधान अधिवक्ता प्रबोध चंद्र सूद और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती सुमन सूद ने दस दिन तक निरन्तर व्यवस्था में सहयोग दिया। शिविर में विशेषरूप से हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली व बिहार राज्यों से कठिन परीक्षा प्रक्रिया द्वारा चयनित साधकों ने वैदिक आध्यात्मिक दर्शनशास्त्रों का अध्ययन किया और क्रियात्मक योगसाधना का प्रशिक्षण भी प्राप्त किया। शिविर में गुजरात के वैदिक आध्यात्मिक जगत के सुप्रसिद्ध दार्शनिक विद्वान स्वामी विवेकानन्द का पावन सान्निध्य प्राप्त हुआ, जिनके द्वारा वेद, दर्शन, उपनिषदों के गूढ़ रहस्यों को सरलतम रूप में हृदयंगम कराया गया। सम्पूर्ण दुःख निवृत्ति और पूर्णानन्द प्राप्ति के लिए योगाभ्यास की सरलतम विधि सिखलाई गई । ईश्वर, आत्मा और प्रकृति के यथार्थ स्वरूप का परिचय कराया गया। इस बीच महर्षि दयानंद सरस्वती रचित अमरग्रंथ सत्यार्थ प्रकाश पर साधकों ने विशेष विचार मंथन किया। एक ओर जहां पूरा विश्व कोरोना रूपी महामारी से आक्रांत है वहीं पर देव भूमि हिमाचल से अनेक लोगों ने लम्बे चले आ रहे लॉकडाउन के बीच अपने तनाव पर नियंत्रण पाया। आर्य प्रतिनिधि सभा के उपप्रधान डॉ.राजेश रावल, महामंत्री विपन महाजन भी शिविर से जुड़े। सभा के पूर्व महामंत्री श्री रामफल आर्य ने साधकों को सम्बोधित किया। शिविर संचालक आचार्य धर्मवीर ने साधकों को दीर्घायु, सुखायु के आयुर्वेदोक्त सिद्धांतों से परिचय कराया और मानवीय मूल्यों की निरंतर होती जा रही क्षतिपूर्ति के लिए कठिन पुरुषार्थ, स्वाध्याय और आत्मनिरीक्षण विषयक संवाद का प्रतिदिन आयोजन किया। हिमाचल प्रदेश के कई मनोनीत सदस्यों ने भी ऑनलाइन शिविर में भाग लिया। शिविर में मुनि परसाराम, नागेन्द्र प्रशाद आर्य, नरेश काम्बोज, विक्रमादित्य महाजन, श्याम सिंह सहयोगी, अलका रावल,  अंजू राजबीर, सुमन भारतीय, सूरजभान आर्य आदि ने भाग लेते हुए उत्कृष्ट अनुशासन एवं सहयोग का उदाहरण प्रस्तुत किया। शिविर के सह संचालक राष्ट्रीय शिक्षा एवं संस्कृति परिषद दिल्ली के डॉ. मनीष आर्य, ऑनलाइन शिविर व्यवस्थापक प्रभात आनन्द आर्य, वेदमित्र आर्य, माता यशोमती आनन्द व आर्य समाज सुंदर नगर कॉलोनी का विशेष सहयोग प्राप्त हुआ।

Admisson Open in Shrimati Chandrawati kanya Gurukul Sanskrit Vidyapeeth

Tribute for Galwan Valley Martyrs